7 ऐसे शुरुआती लक्षण जो कैंसर की चेतावनी देते हैं

कैंसर (कर्क रोग) शब्द सुनते ही शरीर में एक सिहरन सी पैदा होती जाती है। लगभग पूरी दुनिया ही इस गंभीर बीमारी की जद में है। कैंसर एक बीमारियों का वर्ग है, जिसमें शरीर की असामान्य कोशिकाएं तेजी से बढ़ती हैं और रक्त के माध्यम से पूरे शरीर में फैल जाती हैं। हालांकि इस बीमारी का इलाज तो संभव है मगर बहुत देर हो जाने पर यह मृत्यु का कारण बनती है। एन.आई.सी.पी.आर (नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ कैंसर प्रिवेंशन एंड रिसर्च) के मुताबिक भारत में लगभग 2.5 मिलियन लोग इस बीमारी की चपेट में हैं। हर साल 7 लाख से ज़्यादा नए मरीज़ पंजीकृत होते हैं।

medicalnewstoday
इंसानी शरीर की बनावट ही ऐसी है की वो कोई भी गंभीर बीमारी होने से पहले हमें कुछ संकेत देता है। आज हम आपको ऐसे ही 7 लक्षण बताने जा रहे हैं, जो कैंसर होने की आशंका ज़ाहिर करते हैं और हमें इन्हें कतई नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए।
त्वचा में सूजन (नेओप्लास्म्स)

नेओप्लास्म्स को चमड़ी या स्तन के कैंसर का लक्षण माना जाता है। इसमें स्तन और कांख में गांठें बन जाती हैं। सूजन में फोड़े पैदा हो जाते हैं जिसमें से पस निकलता है। अगर शरीर में कोई पैदाइशी निशान (बर्थमार्क) है तो उसकी बनावट और आकार में वृद्धि होने लगती है।

wisegeek
खांसी

वैसे तो खांसी एक से दो हफ़्तों में खुद ही ठीक हो जाती है, लेकिन अगर खांसी उससे ज़्यादा देर तक रहे तो समझ लीजिए की आपको चिकित्सक से सलाह लेने की ज़रूरत है। खांसी में खून आना और सांस लेने में तकलीफ होना फेफड़ों के कैंसर का कारण होता है।

medscape
आंत्र रोग

कभी कभी आंतों की समस्या सामान्य होती है, लेकिन अगर आपकी आतों में किसी प्रकार का बदलाव हो रहा है तो यह पेट के कैंसर का कारण हो सकता है। बार बार दस्त लगना और उसमें खून आना। लगातार पेट में दर्द और गैस का रहना भी इसके लक्षण हैं।

yahoonews
लघुशंका करते समय स्राव होना

लघुशंका करते समय स्राव होना गुर्दे के कैंसर (किडनी कैंसर) का लक्षण हो सकता है। बार- बार मूत्र में खून आना। उच्च रक्तचाप का होना। गुर्दों में तेज़ दर्द होना। पुरानी कमजोरी।

boldsky
लगातार वज़न कम होना

वैसे तो वज़न कम करने के लिए हम कई तरह के व्यायाम करते हैं, यहाँ तक की अपने पसंद की खाने की चीज़ों से भी परहेज़ करने लगते हैं। लेकिन अगर बिना कुछ करे आपका वज़न तेज़ी से कम हो रहा है तो आपको सचेत हो जाने की ज़रुरत है। रक्तहीनता (एनीमिया) भी इसका लक्षण हो सकता है।

Indiatoday
लगातार गले में ख़राश रहना

अगर आपके गले में लगातार ख़राश रहती है, तो इसे हल्के में नहीं लेना चाहिए। यह गले के कैंसर का लक्षण हो सकता है। खांसते वक़्त गले में दर्द होना और खून आना, निगलने में परेशानी होना, लसीका ग्रंथि में सूजन आना भी इसके लक्षण हैं।

healthtap
अत्यधिक थकान

यदि आप शारीरिक श्रम कम करते हैं और नींद भी भरपूर मात्रा में लेते हैं फिर भी जल्दी थक जाते हैं, तो आपको चिकित्सक से सलाह लेनी चाहिए। अत्यधिक थकान भी कई तरह के कैंसर का लक्षण हो सकती है।

health365
यह अवलोकन खुद से किसी निष्कर्ष पर पहुचने के लिए नहीं है। यदि आपको भी इनमे से कोई लक्षण दिखे या महसूस हो तो चिकित्सक से परामर्श ज़रूर लें।

Posted on 28.may.2017

Website http://www.monakhaan.com

Twitter. : @momeenabano

Advertisements

Author: MonaKhaan

Am writer blogger poetess' photographer singer youtuber... Trend supporter... I keep my ideals, because in spite of everything I still believe that people are really good at heart.